असम के बारे में 10 महत्वपूर्ण तथ्य हिंदी में (Facts About Assam in Hindi)

 

1. क्या आप जानते है की असम राज्य त्तर पूर्वी भारत में स्थित एक ऐसा राज्य है जिससे इस इलाके के बाकि राज्यों का जनम हुआ है? हाँ दोस्तों ये बिलकुल सत्य है।

उत्तर पूर्वी भारत के सात राज्य के चार अन्य राज्यों का जनम असम से ही हुए है।

इनमे से मेघालय, अरुणांचल प्रदेश, मिजोरम और नागालैंड मुख्य है। हालाकि पहले के समय से ही त्रिपुरा और मणिपुर असम से अलग थे।

इसीलिए पहले के समय में इसको को ‘बोर असम’ के नाम से भी जाना जाता था।

[‘बोर’ का अर्थ है बड़ा]

Growth of Tourism in Assam, Facts About Assam in Hindi

2. असम राज्य में 600 सालो तक शासन करने वाले आहोमो ने जब पहली बार ब्रह्मपुत्र घाटी के इस भूमि पर प्रवेश किए तब उनकी संख्या यहाँ पहले से ही वास कर रहे लोगो की संख्या के मुकाबले काफी कम थे।

लेकिन अपने बुद्धि और राजनैतिक चतुरता के कारण संख्या में कम होकर भी इन लोगो ने यहाँ 600 सालो तक शासन किआ

है ना आचर्य की बात!  

 

3. क्या आप जानते है की ‘असम’ शब्द की उत्त्पत्ति कैसे हुई ? दराचल इसका जनम भी ‘आहोम’ शब्द से ही हुए है। जब पहली बार आहोमो ने ब्रह्मपुत्र घाटी के इस भूमि पर प्रवेश किआ था, तब वे यहाँ पहले से वास कर रहे लोगो के मुकाबले काफी शक्तिशाली और बुद्धिमान थे।

पुराने वासीओ ने इन प्रवजनकारी लोगो की चतुरता और पराक्रम को देखकर ही उनको पहली बार ‘अहम्’ शब्द से पुकारा। बाद में इसी ‘अहम्’ से ‘आहोम’ और ब्रिटिशो के आने के बाद ‘असम’ शब्द का जनम हुआ।

[अहम् का अर्थ था ज्यादा शक्तिशाली और असमान, ये शब्द स्थानीय वासीओ की तरफ से प्रवजनकारिओ लोगो के लिए एक सम्मान का प्रतीकस्वरूप था]

 

4. दोस्तों क्या आप जानते है की भारतीय संबिधान की विशेषताओ में स्थित सरकारी भाषाओ की सुषि में असामिआ भाषा भी एक अन्यतम है? जिसको भारत देश के 23 मुख्य क्षेत्रीय सरकारी भाषाओ का एक अन्यतम माना जाता है।

आज के तारीख में यहाँ 1.5 करोड़ से भी ज्यादा लोग असामिआ भाषा का व्यबहार करते है।

 

5. असम आज पूरी दुनिआ में चाय उद्पादन के लिए मशहूर है। दोस्तों क्या आप जानते है की भारतवर्ष के 57 प्रतिशत चाय असम अकेले ही उद्पादन करता है ? यहाँ 100000 से भी ज्यादा छोटे छोटे चाय बागान और लगभग 800 के आस-पास बड़े व्यावसायिक बागान है।

इस खेती को करने में ये राज्य इतना अवल होने के कारण ही आज भारतवर्ष विश्व में दूसरे नंबर पर आने में शक्षम हो पाए है।

आज चीन चाय उद्पादन में दुनिआ का बादशाह है लेकिन आशा किआ जा रहा है की अगले ही कुछ वर्षो में असम के बदौलत भारत चीन को इस मामले में पीछे छोड़ देगा।

Facts About Assam in Hindi

6. बहुत सारे लोग ये गलत धारणा पालके चलते है की असम की लोगो के रक्त में मंगोलियन मानव प्रजाति का रक्त दौरता है लकिन दोस्तों आपके ज्ञातार्थ बता देना चाहता हु की ये धारणा सम्पूर्ण रूप से गलत है।

क्योकि ये प्रमाणित हो सुका है की यहाँ के लोगो के रक्त में कोई भी विशेष मानव प्रजाति का DNA नहीं पाया जाता है, बल्कि बिभिन्न मानव प्रजातिओ का DNA यहाँ मिश्रित है।

इसका मुख्य कारण है बिभिन्न समय पर बिभिन्न मानवो का यहाँ आगमन। उदाहरण : – सबसे पहले इस भूमि में ऑस्ट्रिक प्रजाति के लोग रहते थे, उसके बाद आए मंगोलियन और मंगोलो के बाद आए इंडो-आर्यन प्रजाति के लोग।

इन बिभिन्न मानव प्रजातिओ के बिच हुए यौन मिलन के कारण ही असम के लोग आज मिश्रित मानव है।

 

7. असम ही वो राज्य है जहा दुनिआ का आचर्यकर एक सींग वाले गैंडे सबसे ज्यादा मात्रा में पाए जाते है और आपको बतादू की ये यहाँ का एक अन्यतम मुख्य प्रतिक चिह्ना भी है। असम के सबसे बड़े राष्ट्रीय उद्द्यान ‘मानस’ में दुनिआ के सबसे ज्यादा एक सींग वाले गैंडे बसते है।

इस प्राणी को देखने के लिए हर साल लाखो की तादाद में देश-विदेश के सैलानी यहाँ भीड़ करते है।

 

8. असम पर 600 सालो तक शासन करने वाले शक्तिशाली आहोम लोग पहले की समय में हिन्दू धर्म में विश्वासी नहीं थे। 16 सदी के आरम्भ में Chao Suhungmung नामक आहोम राजा ने सबसे पहली बार हिन्दू धर्म को ग्रहण किआ।

आज के समय ज्यादातर आहोम लोग हिन्दू धर्म को ही ग्रहण कर सुके है।

 

9. दोस्तों ज्यादातर लोगो को सायद ये ज्ञात नहीं होगा की एशिया का प्रथम क्रीड़ा मैदान भी एहि पर निर्मित हुआ था। हाँ दोस्तों ये तथ्य भी 100 प्रतिशत सत्य है।

इस मैदान का नाम है रंग घर, जो शिवसागर नगर के बीचो बिच स्थित है।

सबसे पहली बार इसका निर्माण किआ था रूद्र सिंघा ने लेकिन उनका निर्माण उच्च दर्जे का ना होने के कारण इसको पुनः उनके पुत्र प्रमत्त सिंघा ने निर्माण करवाया, जो आज भी असम इसिहास का परिचय बनके खड़े हुए है।

 

10. असम दुनिआ का सबसे बड़ा रेशम उद्पादनकारी राज्य है। यहाँ एक मुख्य जिल्ला सुवालकुसी पुरे दुनिआ में रेशम उद्पादन के लिए बिख्यात है।

अगर आपको और भी ज्यादा जानकारी चाहिए तो ये लेख जरूर पढ़िए : – असम राज्य

0 Comments

Leave a Comment

Follow us

PINTEREST

LINKEDIN

Visit BlogAdda.com to discover Indian blogs