ब्रह्मपुत्र नदी की आत्मकथा (Brahmaputra nadi ki atmakatha)

 

महान प्रतिभाशाली असोमिआ कलाकार भूपेन हज़ारिका जी के वो गाना ही ब्रह्मपुत्र नदी की आत्मकथा  (Brahmaputra nadi ki atmakatha) प्रकाशित करने के लिए काफी है, जब उन्होंने गाया था “Moha bahu Brahmaputra, moha milonor tirtha”इस गाने में उन्होंने इस बिशाल नदी की काफी प्रसंशा की है। 

इस गाने में आपको ब्रह्मपुत्र नदी और उसके ऊपर निर्मित असोमिआ समाज-सभय्ता का पूरा चित्र देखने मिलेगा। उस गाने का लिंक में दे रहा हु अगर आप सुनना चाहे तो सुन सकते है। [Link]

Related Posts: –

ऐतिहासिक पुराणों के मुताबित ब्रह्मपुत्र नदी (Brahmaputra nadi) भगवान ब्रह्मा की संतान है।

जैसा की इसके नाम में ही लिखा है “ब्रह्म” और “पुत्र”; कहा जाता है की एक समय पृथ्वी पर अकाल पर गया था।

जीब-जन्तु ,मानब सभी के पास न खाने को खाना था और ना ही पिने को पानी। पृथ्वी पर ऐसा आकाल देखकर भगवान ब्रह्मा ने एक पुत्र का जनम दिआ और उसको पृथ्वी पर भेजा, लोगो के दुःख-दर्द और आकाल को दूर करने के लिए।

और उस पुत्र ने एक नदी का रूप धारण करके पुरे जीब जगत को उनके कस्तो से मुक्त किआ। क्या आप जानते है की ब्रह्मदेव के उसी पुत्र को आज हम ब्रह्मपुत्र के नाम से जानते है?

ब्रह्मपुत्र नदी आज असम राज्य के लोगो के लिए जीबन का लकीर स्वरुप है।

इस राज्य के सबसे बड़े सभ्यता इसी नदी के पार पर बिकसित हुई थी जिसके कारन आज इसको ब्रह्मपुत्र सभ्यता भी बोला जाता है।

अगर हम ब्रह्मपुत्र नदी की भौगोलिक अवस्था की बात करे तो ये नदी मानससरोबर हृद से जन्मे है जिसका

स्रोत तिब्बत के हिमालयान इलाके में आती है।

एशिया की तीन देशो (चीन ,भारत ,बंगलादेश ) से होकर गुजरने वाली ये नदी आखिर में गंगा नदी के साथ मिल जाती है।

इस नदी की लम्बाई 2,628 किलोमीटर है जो एशिया की सबसे लम्बी नदिओं का अन्यतम मानी जाती है।

ब्रह्मपुत्र नदी का दूसरा नाम क्या है (Brahmaputra nadi ka dusra naam kya hai)

ब्रह्मपुत्र नदी कीअनेको नाम है। तीन देशो से गुजरने के कारन अलग अलग जगहों पर इस नदी को अलग अलग नामो से पुकारा जाता है।

अगर हम असम तथा भारत की बात करे तो इसको इस जगह पर ब्रह्मपुत्र नाम से जाना जाता है ,लकिन भारत के ही अन्य एक राज्य अरुणांचल प्रदेश में इसको चिआंग नाम से जाना जाता है और चीन में इसको त्संगपो ( Yarlung tsangpo river) नाम से पुकारा जाता है।

 

Read My Another Awesome Post: – SEVEN SISTER STATES OF NORTH-EAST INDIA

0 Comments

Leave a Comment