काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान हिंदी में (kaziranga national park in hindi)

 

दोस्तों, आज हम इस लेख में काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान के बारे में बात करेंगे। लकिन मुद्दे पर जाने से पहले मई आपसे एक बात पूछना चाहता हूँ।

दोस्तों, जब आपसे ये पूछा जाता है की असम राज्य किन किन कारणों से दुनिआभर में बिख्यात है , तो आपके मन कौन सी मुख्य बाटे सबसे पहले आती है?

हामारे अनुमान के मुताबित सायद ये तीन मुख्य बाते आती होंगी; प्रथम असम की चाय , द्वितीय असम का केंद्रीय त्यौहार बिहू और तृतीय एक सींग वाले गैंडे।

क्या आप जानते है की असम (Assam) में स्थित भारत के अन्यतम राष्ट्रीय उद्द्यान काज़ीरंगा इस अदभुत प्राणी के लिए दुनिआभर में बिख्यात है ?

हाँ दोस्तों , ये सत्य है और साथ में ये भी सत्य है की असम में दुनिआ की किसी भी हिस्से से ज्यादा एक सींग वाले गैंडे पाए जाते है। यही वो कारण है जिसके वजह से हर साल लाखो सैलानी काज़ीरंगा भ्रमण करने आते है।

दोस्तों क्या आप काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान के बारे में (kaziranga national park in hindi) जानना चाहते हो?

अगर हाँ……………

तो ये लेख, बिलकुल आपके लिए ही लिखा गया है , तो चलिए इस बिशाल राष्ट्रीय उद्द्यान (kaziranga national park) के बारे में सुरु से सुरु करते है।

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान हिंदी में (kaziranga national park in hindi)

Source

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान कहा स्थित है ? (Where is Kaziranga national park in Hindi?)

राष्ट्रसंघ के दुवारा 1985 में विश्व विरासत स्थल (World Heritage Site) के रूप में घोसित काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान स्थित है भारत के उत्तर-पूर्बी राज्य असम में। ये दराचल असम राज्य के तीन जिल्लो के हिस्सों में आता है। पहला तो है गोलाघाट (Golaghat) ,दूसरा है नागाओं (Nogaon) और तीसरा हिस्सा आता है कारबी आंगलोंग (Karbi Anglong) ज़िल्ले में।

Related Articles: – 

 

काज़ीरंगा के जनम का अति सुन्दर कहानी (The Beautiful Story of Kaziranga National Park’s Birth)

इस सुन्दर कहानी का जनम होता है सं 1904 में जब ब्रिटिश भारत के viceroy लार्ड कर्ज़न और उनकी पत्नी मैरी कर्ज़न इस इलाके में एक सींग वाले गैंडे देखने के लिए आये थे। लकिन उनके पत्नी को बुरा लगा तब जब उनको वहा गैंडे देखने को नहीं मिले।

शिकारिओं के दुवारा शिकार किए जाने की वजह से वहां गैंडो की संख्या कम होती जा रही थी। इस बात को समझ कर viceroy की पत्नी ने उन्हें इस इलाके को संरक्षण केरने के लिए जोर दिआ। और पत्नी के प्रति लार्ड कर्ज़न का जो प्रेम था उसी का परिणाम स्वरुप उन्होंने अपने पत्नी की बात रख लिआ।

ये बात है सं 1905 के 1 जून की, जब वहा के 231 वर्ग किलोमीटर इलाके को Reserve Forest घोसित कर दिआ गया।

समय बीतता गया और तीन साल बाद सं 1908 को इस संरक्षित इलाके को 231 वर्ग किलोमीटर से 384 वर्ग किलोमीटर तक बढ़ाया गया। इतिहास के मुताबित 1908 से 1938 तक इस इलाके में सामान्य लोगो का भ्रमण निषिद्ध था। लकिन 1938 के बाद यहां सैलानिओ का प्रबेश मंजूर किआ गया।

दोस्तों, क्या आप जानते है की काज़ीरंगा को राष्ट्रीय उद्द्यान दर्जा कब मिला ?

हाँ ये बिलकुल सत्य की सं 1974 के 11 February को भारत सरकार ने इस इलाके को काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान के रूप में घोसित कर दिआ। और जो पहले इस इलाके का क्षेत्रफल 384 वर्ग किलोमीटर था वो अब 430 वर्ग किलोमीटर तक बढ़ाया गया।

मई ये मानता हु की ब्रिटिशो ने भारत तथा असम के ऊपर हुकूमत की थी , लकिन साथ ही ये भी मानना आवयश्यक है की अगर ब्रिटश नहीं होते तो आज हम भारतीय जिस एक सींग वाले गैंडे को लेकर अपना गर्ब जाहिर करते है वो सायद नहीं कर पाते। इसीलिए हमे उनके प्रति अपना आभार जाहिर करना भी जरूरी है।

tigers of Kaziranga national park

Source

काज़ीरंगा किन किन अनोखे प्राणिओ के लिए बिख्यात है ? (Which are the unique animals for which Kaziranga is famous?)

ये सामान्य रूप से सबको ज्ञात है की काज़ीरंगा में दुनिआ का सबसे दुर्लभ प्राणी एक सींग वाले गैंडे पाए जाते है। 2018 में की गयी एक हिसाब के मुताबित काज़ीरंगा में गैंडो की संख्या है 2413, लकिन यही संख्या 2015 में थी 2400, यानि 3 सालो में गैंडो के संख्या में इज़ाफ़ा आया 13 गैंडे, इसको बहुत ज्यादा अच्छा तो नहीं बोल सकते लकिन भाबिस्व के लिए ये काफी अच्छा संकेत है।

काज़ीरंगा में बहुत ज्यादा संख्या में बाघ (tigers) पाए जाते है। सं 2006 में काज़ीरंगा को बाघ संरक्षण प्रोग्राम का अंतर्गत किआ गया।

बाघ और गैंडो के अलावा भी काज़ीरंगा में और सुन्दर सुन्दर प्राणी पाए जाते है। जैसे की – एशियाइ हाथी (Asian elephants), जंगली सूअर (Wild boar), बरसिंह हिरण (Barasingha deer), पल्लस ईगल (Pallas’s fish eagle), गोल्डन लंगूर (Golden Monkey), जंगली पानी भैंस (wild water buffalo), हॉग हिरण (Hog deer), भारतीय रोलर ( Indian roller), गुलाबी गले वाले तोते (Rose-ringed parakeets), बिविन्न प्रजाति के साप इत्यादि

one horn rhino images

Source

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान के ऊपर कुछ महत्वपूर्ण तथ्य (Significant Information About Kaziranga in Hindi)

अगर आप भी काज़ीरंगा भ्रमण करना चाहते हो तो आपको वहा हाथी या फिर jeep गाड़ी से ही भ्रमण करने दिआ जाएगा। जानवर और इंसानो के बिच संगर्ष ना हो इसी कारन पैदल चलना वहां मना है।

क्या आप जानते है की साल के किन किन समय काज़ीरंगा भ्रमण बंद रहता है ? चलिए मई बताता हूँ। दराचल आप May महीने के एक तारीख से October महीने के अंत तक यहां भ्रमण नहीं कर सकते। क्यों की इस समय Monsoon का बारिश आरम्भ होता है और इसी कारन यातायात व्यवस्था भी ठीक नहीं रह पाता।

क्या आप जानते है की दुनिआभर के जितने भी सैलानी यहाँ भ्रमण करने आते है उनके 80 प्रतिशत लोगो से भी ज्यादा लोग केबल एक सींग वाले गैंडे देखने की लालचा से ही आते है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आशा करता हूँ की आपको ये लेख पचंद आया होगा।

अगर काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान से सम्बंधित आपका हमारे लिए कोई भी सुझाव हो तो निचे जरूर टिप्पणी कीजिएगा । हम आपको जरूर जवाब देंगे।

धन्यवाद।

0 Comments

Leave a Comment

Follow us

PINTEREST

LINKEDIN

Visit BlogAdda.com to discover Indian blogs