काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान किसके लिए प्रसिद्द है? (Kaziranga Rashtriya Udyan Kiske Liye Prasidh Hai?)

 

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान के प्रसिद्द होने का बहुत सारा कारन है। जिनमे से आज इस लेख में आपको कुछ मुख्य कारनो के बारे में बताएँगे। ये मुख्य कारन कुछ इस प्रकार के है : –

 

1. एक सींग वाले गैंडे : – सबसे पहला कारन तो साफ साफ दिखाई देता है , जो की है एक सींग वाले गैंडे।

दुनिआ की आप किसी भी जगह घूम लो लकिन असम राज्य और कुछ दक्षिण एशियाई देशो (भूटान ,पाकिस्तान ,बंगलादेश और नेपाल) के अलावा और कही भी आपको एक सींग वाले गैंडे देखने को नहीं मिलेंगे।

आज के तारीख में काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान में लगभग 2000 गैंडे पाए जाते है, जो की पर्यटकों के लिए भी मुख्य आकर्षण का केंद्र है।

 

2. बिस्व धरोहर स्थल : – बन तथा बन्यजीबो को संरक्षण करने के लिए पुरे भारत तथा असम में UNESCO दुवारा कुछ बनो को बिस्व धरोहर स्थलों के सुषि में लाया गया है।

जिनमे से असम राज्य का मानस राष्ट्रीय उद्द्यान और काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान मुख्य माने जाते है। काज़ीरंगा की बिचित्र परिवेश और बिचित्र जानवरो के लिए ही 1985 UNESCO दुवारा इसको बिस्व धरोहर स्थलो की सुषी में लाया गया।

यही वो कारन है जिसके वजह से जगह आज पूरी दुनिआ में बिख्यात है ;तथा हर साल हजारो की तादाद में सैलानी यहाँ भ्रमण करने आते है।

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान किसके लिए प्रसिद्द है

Source

3 . दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्द्यान : – क्या आप जानते है की काज़ीरंगा असम राज्य का दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्द्यान है ?

जी हाँ, असम राज्य का जो सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्द्यान है वो है मानस राष्ट्रीय उद्द्यान जिसका क्षेत्रफल है 950 वर्ग किलोमीटर। वही दूसरी ओर काज़ीरंगा दूसरे नंबर पर आते है, जिसका क्षेत्रफल है 430 वर्ग किलोमीटर

असम राज्य के बीचो बिच स्थित होने के कारन लोग यहाँ भ्रमण करने के लिए विशेष आकर्षण अनुभव करते है।

 

4. हाथी के ऊपर भ्रमण : – अगर आप काज़ीरंगा भ्रमण करने जाओगे तो आपको उद्द्यान भ्रमण करने के लिए सिर्फ दो ही उपाय दिए जायेंगे।

जो की एक है हाथी के ऊपर भ्रमण और दूसरा है जीप गाड़ी से भ्रमण। मैंने हाथी के ऊपर यात्रा तो नहीं किआ है लकिन कहा जाता है की हाथी के ऊपर भ्रमण बहुत ही रोमांचकर होता है।

हाथी के ऊपर भ्रमण भी एक अन्यतम कारन है जिसके वजह से लोग काज़ीरंगा की दौरा करने को उच्चाहीत रहते है।

 

5. बिविन्न प्रजाति के जीब : – काज़ीरंगा में बिविन्न प्रजाति के जीब देखने मिलते है। जैसे की एक सींग वाले गैंडे ,जंगली सूअर, जंगली भैस ,बारासिंगा हिरन ,सोनाली बन्दर ,हॉग हिरण और पक्षिओ में कुछ दुर्लव प्रजाति के पक्षी जैसे की फ्रैंकोलिनस गुलरिस, ब्लीथ किंगफिशर, ग्रेटर एडजुटेंट और लैसर एडजुटेंट इत्यादि।

ये सारे प्राणी एक ही जगह पर देखने को मिलते है। ये भी काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्द्यान के प्रसिद्द होने का एक अन्यतम कारन है।

 

निष्कर्ष (Conclusion)

मैंने जितना अध्ययन किआ है, मुझे इन पांच कारणों को ही मुख्य लगता है। जिसको मैंने आपके साथ शेयर किआ।

आपको किआ लगता है निच्चे टिप्पणी करके हमें ज्ञात कीजिएगा।

धन्यवाद।

 

Related Articles: – असम आंदोलन [क्या 2.0 सुरु होने वाला है?]

2 Comments

hadiqatulnasuha January 28, 2019 at 7:40 pm

Hey tһere I am so happy I found your webⅼog, I гeazlⅼy found you
by accidеnt, whiⅼe I was researching on Digg for something else, Anyhow I am
here now and would just like to say many thanks for a fantastic post ɑnd an all round exciting blogց (I ɑlso love the theme/design),
I don’t have time to browse it all at the
moment Ьut І һave saved it and als᧐ added your
RSS feeds, so wһen I have time I will be back
to read a lot more, Please do keep up the great work.

    Akash January 28, 2019 at 9:41 pm

    Thank you.

Leave a Comment

Follow us

PINTEREST

LINKEDIN

error: Content is protected !!