ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान (Orang National Park in Hindi)

 

नमस्कार दोस्तों ,

आपको allaboutassam के इस नए लेख पर हम तहे दिल से स्वागत करते है। आशा करता हु की हमारा ये नया लेख आपको बहुत पछन्द आएगा।

दोस्तों आजके हमारे इस नए लेख का मूल विषयवस्तु है ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान (Orang National Park), जो भारतरास्त्र के उत्तर -पूर्बी राज्य असम में स्थित है।

ऐसा लगता है की आप इस उद्द्यान के बारे में जानने को काफी इच्छुक हो। इस लेख में आपकी इसी इच्छुकता को पूर्ण करने की हम कोसिस करेंगे।

तो चलिए ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान (Orang National Park) के जनम से इस लेख को आरम्भ करते है।

Fishing Cat of Orang national park

Source

ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान का जनम (Birth of Orang National Park In Hindi)

 

आज तक भारत में जितने भी राष्ट्रीय उद्द्यान बने है उन सबकी कोई न कोई कहानी जरूर है। लकिन उन सब कहानिओ में से जिस उद्द्यान की कहानी सबसे ज्यादा बिचित्र है वो है ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान की कहानी।

दोस्तों क्या आपको मालूम है की सं 1900 से पहले ओरांग एक जनजाति इलाका था। जिसमे असम राज्य के कुछ बहुत ही पिछड़े हुए जनजाति लोग रहते थे। लकिन 20 वी सताब्दी की आरम्भ में वहा हुए इंफ्लुएंजा महामारी के वजह से बहुत सारे लोग मृत्यु की नींद सो गए और जो बाकि बचे थे उनको भी बाद में वो इलाका छोड़ना पड़ा।

जनशून्य हो जाने के वजह से ब्रिटिश सरकार (1947 से पहले असम तथा पुरे भारत में ब्रिटिश हुकूमत चल रही थी ) ने उस इलाके को 1919 में Orang Game Reserve घोषित कर दिआ।

उस समय ये जगह बाघों के लिए काफी बिख्यात था जिसके कारण बाघ संरक्षण के लिए ब्रिटिश सरकार ने Orang Game Reserve की जिम्मेदारी राज्यिक बन बिभाग (State Forest Department) को सौप दिआ।

1947 में भारतवर्ष को स्वतंत्रता मिला ,लकिन स्वतंत्रता के 38 साल बाद भी इस जगह को कोई खास प्रगति नहीं मिली थी। फिर सं 1985 आये जब भारत राष्ट्र के सिआसत में राजीब गाँधी जी का शासन प्रतिष्ठित हुआ।

ये उस समय खुसी बात थी की 1985 में सरकार दुवारा ओरांग को वन्यजीव अभ्यारण्य (wild life sanctuary) घोषित कर दिआ गया, लकिन 1991 सं में राजीब गाँधी की हत्या हो जाने के कारण उनके सम्मान के खातिर ओरांग वन्यजीव अभ्यारण्य को राजीब गाँधी ओरांग वन्यजीव अभ्यारण्य (Rajib Gandhi wild life sanctuary) कर दिआ गया।

असम में इस घोषणा को ज्यादा समर्थन नहीं मिला, स्थानिअ लोगो ने काफी विरोध भी किआ।

ओरांग वन्यजीव अभ्यारण्य के लिए सबसे ज्यादा सुन्हेरा मौका आया सन 1999 को, एहि वो सन था जब इस इलाके को अचल सम्मान मिला, हाँ मई वही बोल रहा हु जो आप सोच रहे है यानि 1999 के 13 April को राजीब गाँधी ओरांग वन्यजीव अभ्यारण्य को ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान घोषित कर दिआ गया। और इसी कारन 1999 से अब तक ये उद्द्यान असम राज्य का गौरव बनके के डटा हुआ है।

Related Articles: –

ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान की अवस्थिति (Location of Orang National Park)

अगर हम इसकी अवस्थिति की बात करे तो ये जगह असम राज्य के जीबन की लकीर स्वोरुप ब्रह्मपुत्र नदी के तट पर स्थित है जो दो अति महत्वपूर्ण एतिहासिक जिल्ला दरंग और सोनितपुर में आता है।

कुल क्षेत्रफल (Total Area): – 78.81 वर्ग किलोमीटर।

 

ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान की कुछ चित्र (Orang National Park Photos)

indian hog deer at orang

Source

 

beautiful deer

Source

 

Kingfisher bird in Assam's national park

Source

 

Asian Elephant of Assam

Source

 

कौन कौन सी प्राणिओ के लिए ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान बिख्यात है (Orang National Park is Famous for Which Animal)

ओरांग राष्ट्रीय उद्द्यान विशेष करके बिविन्न प्रजाति के पक्षी, एक सींग वाले गैंडो और बाघों के लिए बिख्यात है। लकिन अन्य जीब भी काफी मात्रा में पाए जाते है। कुछ जीबो के नाम कुछ इस तरह के है: –

  • एक सींग वाले गैंडे (Great Indian One Horn Rhinoceros)
  • एशियाई हाथी (Asian Elephant)
  • हॉग हिरन (Hog Deer)
  • जंगली सुकर (Pygmy Hog )
  • भारतीय पांगोलिन (Indian Pangolin)
  • मछली पकड़ने वाली बिल्ली(Fishing Cat)
  • पल्लस ईगल (Pallas Fish Eagle)
  • किंग फिशर (King Fisher)
  • ब्राह्मणी बतख (Brahminy Duck)
  • बंगाल फ्लोरिकन (Bengal Florican)

Read Our Another Awesome Post : – AMCHANG WILDLIFE SANCTUARY

2 Comments

ayati chaudhary January 10, 2019 at 9:18 pm

Very good source you have but it needs a little bit more information on the orang national park…😀😀🧐🧐

    Akash January 16, 2019 at 8:11 am

    Thank You Ayati, I will definitely try to do more.

Leave a Comment

Follow us

PINTEREST

LINKEDIN

error: Content is protected !!